छत्तीसगढ़ की प्रासिद्ध लोकगायिका- ओजस्वी आरू साहू।। Chhattisgarh ki Prashidh Lokgayika- Aaru Sahu ( CG Sihawa-Nagri)

Aaru Sahu का Biography
आरू साहू - छत्तीसगढ़ की  उभरते कलाकार मे से एक है, हमारी लाडली आरू साहू  जो आज हर एक  के दिल मे राज कर रही है । Aaru sahu जो आज किसी परिचय की मोहताज नही है । आरू साहू की सबसे खास बात है उनके कोयल जैसे सुमधुर आवाज जिनकी बोली से ही हमारे छत्तीसगढ़ की राजकीय गीत 'आरपा पैरी के धार 'चहक  उठती है । और जिनकी  मधुर संगीत से ही हर एक झूमने नाचने मे मजबूर कर देती है ।   




आरू साहू 12 साल के उम्र मे ही  अपने क्षेत्र के साथ- साथ ही अपने राज्य की संस्कृति को लेकर देश नही बल्कि विदेश मे बिखेर रही है और अपना अलग ही पहचान बना रही है । 


आरू साहु का पूरा नाम -

आरू साहू  का पूरा नाम - ओजस्वी आरू साहू है । बड़े प्रेम से आरू करके घर वालो साथ सभी इनके दोस्त लोग भी आरू ही बुलाते है । 

आरू साहू का पता - 

धमतरी जिले के नगरी सिहावा क्षेत्र के ग्राम डोंगरडुला रहने वाली है । चुकी नगरी सिहावा अंचल पूरा सप्त ऋषियों का त्प्सस्थली है । इनकी पौराणिक कहानी आज भी ग्रंथो मे है । अगर आप कभी इस क्षेत्र के बारे मे जानना व घूमना चाहते है ,तो आप जरूर आइये यहा आपको हरा--भरा इलाका मे बड़े ही सुकून व कई धार्मिक स्थलो की दर्शन होंगे । 


आरू साहू का रुचि  क्या है ? 

आरू साहू बचपन से  ही अपने गाँव के स्कूलों मे  एक प्रतिभा शाली छात्रा रही है , इनकी रुचि पढ़ाई लिखाई, खेल कूद ,संगीत सभी क्षेत्र मे रुचि थी । और वर्तमान मे पढ़ाई लिखाई के साथ -साथ संगीत के मध्यम से आज पूरे छत्तीसगढ़ के साथ पूरे भारत देश मे जाने जाते हैं । 



संबन्धित पोस्ट देखे -
कोयातूर अमलेश नागेश की  बायोग्राफी

 

दोस्तो आपको छत्तीसगढ़ की प्रासिद्ध लोकगायिका- ओजस्वी आरू साहू का बायोग्राफी कैसा लगा ? अच्छा लगा हो तो जरूर अपनी प्रतिक्रीया देवे धन्यवाद । 
नाम -
ईमेल पता - 
संदेश -


www.morchhattisgarh.in





Post a Comment

0 Comments